अश्वगंधा के फायदे – अश्वगंधा क्या है | अश्वगंधा कि सम्पूर्ण जानकारी

अश्वगंधा के फायदे

अश्वगंधा को अश्वगंधा इसीलिए कहा जाता है क्योंकि अगर इसके पौधे के किसी भी हिस्से की गन्ध लेंगे ! तो एकदम घोड़े के जैसी गन्ध आएगी !
अश्वगंधा का साइंटिफ़िक नाम Withania Sawni fera होता है ! जिसमे से Withania पेड़ो की प्रजाति है और Sawnifera शब्द का मतलब होता है कोई ऐसी चीज जो आराम देती है !

अश्वगंधा में क्या होता है

अश्वगंधा अपने विथानो लाइट्स की वजह से जानी जाती है और इसमें 40 विथानो लाइट्स होते हैं ! और 12 एलकोलाइट्स होते हैं और बहुत सारे साइटों इंडो साइट्स होते है ! यह सारे तरीके शरीर को फायदा पहुँचाता है !

अश्वगंधा के फायदे

अश्वगंधा को बहुत ही प्रसिद्ध औषधि माना गया है बहुत दवाइयों में इसका इस्तेमाल किया जाता हैं ! यह शरीर के नर्वस सिस्टम को ठीक करता है हार्मोन्स पर असर करता है !

अश्वगंधा दिमाग के लिए

अश्वगंधा को आयुर्वेद में मेध्य रसायन भी कहा जाता है जिसकी वजह से न केवल यादाश्त तेज करने के लिए बल्कि कॉन्संस्ट्रेट को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है ! साथ ही साथ एंजोईटी स्ट्रेस और डिप्रेशन को दूर करने में यह आयुर्वेद में सबसे बेहतरीन औषधि में से एक हैं ! यानी अगर अश्वगंधा लेते हैं तो यह ब्रेन फंग्शन को बेहतर कर देती है ! जिसकी वजह से न केवल सीखना आसान हो जाता है बल्कि बेहतर तारीके से कॉन्स्ट्रेट कर पाते है !

साथ ही साथ दिमाग से जुड़ी परेशानिया जैसे कि – ब्यपयोरल, आप्सेशिव, कंपल्सिव डिसऑर्डर, हाइपर एक्टिव डिश ऑर्डर इन तीनो को ठीक करने के लिए अश्वगंधा एक बहुत ही एपिशीएंट मेडिसिन मानी जाती है ! इसके आलवा अश्वगंधा में न्यूरोजरनेटिक प्रोपर्टीज होती है अश्वगंधा का इस्तेमाल न्यूरोजरनेटिक डी बीमारिया जैसी कि – एल्जाइमर, पार्किंसन्स, हंटिंटेन्ट, और स्पाइनल कॉर्ड इंजरी इन परेशानियों को सही करने के लिए अश्वगंधा का इस्तेमाल करते हैं ! इसका मतलब पढ़ाई में मन न लगने से स्पाइनल कॉर्ड इंजरी तक अगर दिमाग से रिलेटड कोई परेशानी हो तो अश्वगंधा का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए !

अशवगंधा ब्लड सर्कुलेशन को सही करे

अश्वगंधा की सबसे बड़ी खसियत रहती है यह ब्लड कोर्टिसोल लेवल को कम करती है कॉर्टिसॉल असल मे स्ट्रेस हार्मोन्स होते हैं ! अगर बहुत लंबे समय तक स्ट्रेस में रहते हैं तो यह खून में बहुत ज्यादा बढ़ जाता है ! जिसकी वजह से डिप्रेशन एंग्जॉइटी स्ट्रेस जैसी समस्याएं पैदा हो जाती है अश्वगंधा कॉर्टिसॉल लेवल को कम कर स्ट्रेस को कम करता है ! जिन्हें नींद नही आती अश्वगंधा उन लोगो के लिए ज्यादा लाभकारी है अगर कॉर्टिसॉल लेवल बढ़े हुए हैं तो कितनी भी डायटिंग कर लें ! शरीर पर चर्बी चढ़ती चली जायेगी और मोटापा कम नही होगा !

अश्वगंधा पेन्स क्रियाओं को करे एक्टिव

अश्वगंधा पेन्स क्रियाओ को एक्टिव करता है और इंशुलिन का सीक्रिएशन बढ़ाता है इसका मतलब वह लोग जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है ! यानी नॉन इनोशुलिन डिपेंड डायबिटीज यानी इस डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए इंजेक्शन लगाने की जरूरत नही पड़ती है ! अगर अश्वगंधा लेते हैं तो धीरे धीरे करके सही क्वन्टिटी में यह पैदा करना शुरू कर देती है !

अश्वगंधा ब्लड केलॉस्ट्रॉल को करे कंट्रोल

अश्वगंधा ब्लड कोलेस्ट्रॉल और ट्राई ग्रिस्लाइट लेवल को कम कर देती है ! जिसकी वजह से अश्वगंधा हार्ट डिजीज होने वाले के लिए ज्यादा लाभकारी है ! जिन्हें हार्ट डिजीज से जुड़ी कोई समस्या है उन्हें अश्वगंधा को अपने डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए ! इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि हार्ट डिजीज की समस्या कभी भी नही होगी !

खेलने कूदने वालो के लिए अश्वगंधा

वे लोग जो किसी भी तरह के स्पोर्ट्स खेलते हैं उन्हें अश्वगंधा जरूर लेना चाहिए ! अश्वगंधा लेने से न केवल पावर बढ़ेगी बल्कि कॉन्संस्ट्रेसन भी बढ़ेगी !

अश्वगंधा के फायदे वजन ज्यादा होने पर

अगर वजन बहुत ज्यादा है एक्सरसाइज भी करते हैं डायटिंग भी करते हैं फिर भी वजन कम नही हो रहा है ! तो केवल अश्वगंधा लेना शुरू कर दें और एक्सरसाइज और डाइट वैसे ही बनाएं रखे ! 15 दिन में बहुत अच्छे रिजल्ट देखने को मिलेंगे !

अश्वगंधा ब्लड में रिएक्टिव और ऑक्सीजन पैदा करें

अश्वगन्धा ब्लड में ऑक्सीजन व रिएक्टिव पैदा करना शुरू कर देता है और रिएक्टिव ऑक्सीजन ऐसे होते हैं! यह शरीर में किसी भी तरह के कैंसर सेल्स को पैदा होने से रोक देता है ! अगर अश्वगंधा रोजना लिया जाए तो काफी हद तक फायदा होता है और कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से बचा जा सकता है !

अश्वगंधा इम्युनिटी पावर बढ़ाये

अश्वगंधा इम्यूनिटी को बढ़ाती है जिसकी वजह से काफी सारी बीमारियों से बचा जा सकता है ! बहुत सारे तारीके के इम्फलमेशन और इंफेक्शन से बचे रहते हैं ! इम्फ्लेमेशन का मतलब इसका मतलब शरीर के किसी भी भाग में सूजन या अर्थराइटिस की बीमारी है ! तो अश्वगंधा लेना शुरू कर दें और 21 दिन के अंदर सूजन व अर्थराइटिस की परेशानी दूर हो जाएगी !

READ MORE –

 

  1. पेट गैस की दवा – पेट मे गैस के कारण
  2. साइनस के लक्षण
  3. अस्थमा के लक्षण
  4. वायरल फीवर के कारण
  5. चुकंदर के फायदे
  6. मलेरिया के लक्षण
  7. Anti aging yoga in Hindi
  8. पेट की चर्बी कैसे कम करें
  9. आंवला के फायदे जानें किन किन बीमारियों में फायदेमंद है
  10. मुँह के छाले होने के कारण, लक्षण और उपचार

अश्वगंधा के मुख्य फायदे

अगर अश्वगंधा लेते है तो शरीर नेचुरली ज्यादा टस्ट और स्ट्रांग बनना शुरू हो जाता है ! इसकी वजह से शरीर पर अच्छी मांसपेशियों का होना,हड्डियों की चौड़ाई ज्यादा होना और आवाज़ गहरा और भारीपन होना ! अश्वगंधा लेने से ये सारी चीजें बढ़ जाती है !

अश्वगंधा स्पर्म क्वालिटी, स्पर्म क्वन्टिटी और स्पर्म मोटिलिटी इन तीनो को बहुत ज्यादा बढ़ा देता है !

जिन लोगो का थायराइड बढ़ा रहता है जिसे हाइपो थायराइड बोलते हैं जिसके कारण वजन बढ़ता चला जाता है ! उनके लिए अश्वगंधा बहुत फायदेमंद है! अश्वगंधा का पाउडर गर्म पानी के साथ इस्तेमाल करने से वजन कम रहता है और थायराइड भी कंट्रोल रहता है ! और जिन लोगो को वजन बढ़ाना है वे गर्म दूध के साथ शहद डालकर लेने से वजन बढ़ने लग जाता है !

जिन बच्चों को रिकेट्स की बीमारी है जिसमे हाथ पैर पतले हो जाते हैं और पेट एकदम फूलने लग जाता है ! जिसको सूखा रोग कहा जाता है जिसकी वजह से पेट के साथ साथ लिवर भी बढ़ जाता है ! हड्डियों और शरीर मे कमजोरी आ जाती है उन बच्चों को गर्म दूध में अश्वगंधा उबालकर पिलाने से रिकेट्स की बीमारी ठीक हो जाती है !

जिनके बाल सफेद व झड़ रहे हैं वह अश्वगंधा पाउडर बराबर भृगराज का पाउडर और मिश्री तीनो को बराबर मात्रा में लेकर एक एक चम्मच सुबह शाम गाय के दूध के साथ लेने से बहुत फायदा होता है !

अश्वगंधा के मुख्य फायदे

जिनका बी पी हाई होता है उनके लिए भी अश्वगंधा पावडर लेना बहुत फायदेमंद है

जिन लोगो के शरीर में जगह जगह पर गांठे जिसे रसोलिया बोला जाता है! उनके लिए अश्वगंधा का पावडर गर्म पानी के साथ लेना और अश्वगंधा पावडर का लेप बनाकर अच्छे से रसोलिया पर लगाएं ! फिर आधे घंटे बाद धो लें इससे रसोलिया धीरे धीरे ठीक हो जाता है !

जिन लोगो को मिर्गी इस्टेरिया की शिकायत रहती है या पैरालाइसिस या आधे शरीर का लकवा की शिकायत है ! उनके लिए अश्वगंधा पाउडर बहुत फायदेमंद है !

जिनको बार बार अस्थमा,खाँसी, जुकाम की शिकायत रहती है! उनको गर्म दूध या पानी के साथ लेने से बहुत फायदेमंद है !

जिनको फेफड़े की टीवी या छाती में दर्द रहता है वह अश्वगंधा का पाउडर लहसुन की दो कलियों के साथ गर्म पानी के साथ सुबह शाम लेने से फेफड़े की टीवी और छाती दर्द में आराम मिलता है !

अश्वगंधा कब और कैसे लेना है

अश्वगंधा की सूखी जड़ बारीक पीस लें और फिर 5 ग्राम अश्वगंधा को 10 ग्राम गाय की शुद्ध घी में मिलाएं! और 20 ग्राम शहद व मिश्री मिलाकर आधा किलो दूध के साथ जब तक उबालें ! जब तक एक उबाल न आ जाये अश्वगंधा सुबह खाली पेट लेना है ! उसके बाद नाश्ता नही करना है सीधे दोपहर का खाना खाएं ! इसका सही रिजल्ट पाने के लिए एक साल तक उपयोग करें !

अश्वगंधा के नुकसान :–

गर्भवती महिलाएं इसका इस्तेमाल न करे क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है जिनको पित्त प्रकृति की शिकायत है ! जिनको एसिड ज्यादा बनता है खाज खुजली की शिकायत है वह इसका इस्तेमाल न करें ! क्योंकि इससे परेशानी और बढ़ सकती है बी पी लॉ,शुगर लॉ है तो अश्वगंधा इस्तेमाल न करें

READ ENGLISH BLOGS:-

  1. What causes of chest pain, chest pain symptoms
  2. At home exercise tips
  3. How to treatment migraine
  4. What’s acid reflux symptoms
  5. How to increase running stamina for all sports

1 thought on “अश्वगंधा के फायदे – अश्वगंधा क्या है | अश्वगंधा कि सम्पूर्ण जानकारी”

Leave a Comment

%d bloggers like this: