केसर के फायदे इन हिंदी और केसर की पूरी जानकारी

केसर के फायदे इन हिंदी

केसर को कुमकुम के नाम से भी जाना जाता है अंग्रेजी में इसे सैफरॉन के नाम से जाना जाता है ! और वनस्पति नाम इसका क्रोकस सेटैक्स है !
केसर भारत मे ईरान,चीन और भी कई देशों से आता है और भारत मे कैसर हिमाचल प्रदेश,जम्मू कश्मीर में इसकी खेती की जाती है !
सभी कैसरो मे सबसे बढ़िया केसर कश्मीरी केसर माना जाता है ! क्योंकि इसके जो तिनके होते है वह मेहरून कलर का होता है और इसमे गुण भी अच्छे पाये जाते हैं !

केसर में पाया जाने वाला त्वत :– केसर के फायदे इन हिंदी

केसर के अंदर पोटेशियम, कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन सी, आयरन और बहुत सारे मिनरल्स पाये जाते हैं ! जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है !

केसर का प्रयोग :– केसर के फायदे इन हिंदी

केसर का प्रयोग मिठाइयों में,पेय पदार्थों में, खाने में , खीर में,हलवा और पूजा में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है ! और आयुर्वेद में बहुत सी औषधियों में इसका इस्तेमाल किया जाता है ! लगाने में और खाने में कैसर बहुत फायदेमंद होता है !

केसर की पहचान :– केसर के फायदे इन हिंदी

केसर बहुत महंगा होता है इसीलिए केसर दो तरह का आता है ! (सैफरॉन) केसर असली और नकली आते हैं !
नकली कैसर में भुट्टे के बाल की कटिंग करके उसमें कलर और सुगंधित करके केसर और उसको मिलाकर बेचा जाता है !

असली केसर का रंग बहुत मेहरून होता होता है इसकी खुशबू सूखी घास की तरह आती है ! असली केसर में हल्का कड़वाहट का टेस्ट आता है और इसे खाने से शरीर में एनर्जी और गर्मी आ जाती है ! नकली केसर का टेस्ट मन को खराब कर देता है !

केसर की तासीर :– केसर के फायदे इन हिंदी

केसर की तासीर गर्म होती है इसको तेल में डालकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं ! और पीने के चीजो में डालकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं ,पानी मे डालकर इसका लेप किया जाता है ,काढ़ा या चाय के रूप में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं !

केसर की मात्रा कितनी होनी चाहिए :– केसर के फायदे इन हिंदी

केसर के दो से तीन तिनके सुबह ले सकते हैं दो से तीन तिनके दोपहर में ले सकते हैं ! यदि बीमारी ज्यादा हो तो दिन में तीन या चार बार भी ले सकते हैं ! लेकिन दिन में तीन या चार वही ले जो वात, दोष से परेशान है !
जिनका शरीर पहले से पित्त वाला है वह केवल एक बार ही ले सकते है दो तिनके ही ले ज्यादा वात वाले दिन में चार बार भी लें सकते हैं !

READ MORE :

केसर किन किन बीमारियों में फायदेमंद

केसर शुगर को करे मैंटेन :–

शुगर से परेशान व्यक्तियों का नर्वस सिस्टम कमजोर होता है जिससे उम्र दिखने लगती है ! उस व्यक्ति को केसर के तीन तिनके लेकर एक कप पानी मे डालकर शाम को तिनके समेत खाना खाने से पहले पी जाना हैं ! कम से कम यह प्रक्रिया एक घण्टा पहले करें इसी तरह शाम को भिगोकर रखे और सुबह खाली पेट इस्तेमाल करें !
ऐसा करने से अग्नाशय मजबूत होगा और शरीर मे जितना इंसुलिन बनाना चाहिए उतना बनेगा ! जिससे शुगर बिल्कुल कंट्रोल में रहेगा !

केसर नसों के ब्लॉकेज को सही करे :–

नसों में कमजोरी,नसों में सिकुड़ाहट, नसों ब्लॉकेज होने के कारण शरीर मे खून की दौड़ान सही ढंग से नही हो रही है ! तो केसर नर्वस सिस्टम के लिए बहुत अच्छा माना जाता है !
इसके लिए एक कप पानी मे तीन से चार केसर को डालकर अच्छे से उबालें फिर हल्का गुनगुना ही पिये ! सुबह शाम पीने से नर्वस सिस्टम एकदम खुल जाती है ! और नाड़ियां सही ढंग से काम करना शुरू कर देगा ! इसमे केसर का इस्तेमाल बहुत ज्यादा फायदेमंद है !

कमजोरी व थकान में केसर का इस्तेमाल :–

जिन व्यक्तियों को कमजोरी व थकान महसूस होना या काम करने में मन न लगना ! उनके लिए केसर के दो या तीन तिनके दूध में डालकर इस्तेमाल करने से शरीर में पूरी एनर्जी व ताकत बनी रहती हैं ! जिससे किसी भी तरह का वैक्टेरिया नही होता है बिल्कुल स्वास्थ्य और निरोग बने रहते हैं !

केसर का इस्तेमाल दर्द व सूजन में :–

शरीर में यदि दर्द व सूजन है तो खासतौर पर यह फायदेमंद है !
दूध में चार तिनके डालकर गर्म करके इस्तेमाल करने से जोड़ो का दर्द व सूजन ठीक हो जाता है ! खासतौर पर गठिया वाले रोगी के लिए केसर और हल्दी वाला दूध बहुत फायदेमंद है !
इसके लिए एक गिलास दूध में तीन या चार केसर और आधा चम्मच हल्दी डालकर उबाले और इसके बाद हल्का गुनगुना ही पिये !

पेट के दिक्कत में केसर का उपयोग :–

जो लोग पेट से परेशान है पेट मे गैस बनती है ,पेट फूला सा रहता है ! वे लोग केसर का इस्तेमाल करके इससे छुटकारा पा सकते हैं !
एक कप पानी मे तीन से चार केसर के तिनके डालकर रात भर रख दें ! फिर सुबह खाली पेट तिनके के साथ पानी पी लें ! ऐसा दिन में एक बार ही करना है !

गर्भवती महिलाओं के लिए केसर :–

गर्भवती महिलाओं के लिए भी केसर का इस्तेमाल करना काफी ज्यादा फायदेमंद है ! ठंडे दूध में दो तीन तिनके केसर का इस्तेमाल करे !
इससे ताकत मिलेगी शरीर स्वास्थ्य रहेगा और बच्चे का शरीर व हड्डियां स्वास्थ्य और मजबूत होगा ! और बच्चा बिल्कुल गोरा पैदा होगा केसर रंग को साफ करता है !

केसर काम इच्छा की कमी को दूर करें :–

जिन व्यक्तियों में काम इच्छा में कमी आ जाती है लिंग में तनाव नही है ! तो उनके लिए केसर के तेल का मालिश करना बहुत फायदेमंद है और केसर वाला दूध इस्तेमाल करें !
इसके लिए केसर दूध में डालकर उबालें और हल्का गुनगुना ही पिये इससे शरीर में ताकत होगी जिससे संभोग क्रिया सही ढंग से कर सकते हैं !
तेल को बनाने के लिए तिल के तेल में 2 ग्राम केसर डालकर अच्छे से गर्म करें ! फिर छानकर तेल को रख लें फिर लिंग पर सुबह शाम मालिश करना है ऐसा करने से लिंग में तनाव आएगी !

केसर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाये :–

जिन लोगो का रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होता है उनके लिए भी केसर वाला दूध सुबह शाम इस्तेमाल करने से रोग प्रतिरोधक प्रणाली बढ़ जाती है ! बढ़ती उम्र नही दिखती है !

ब्लैक हेड्स को ठीक करें :–

जिन लोगो को ब्लैक हेड्स, पिम्पल्स की शिकायत रहती है झुर्रियां झाइयां की शिकायत है या चेहरा काला पड़ जाता है !
उनके लिए गुलाब जल में केसर अच्छे से मिक्स करके पेस्ट बनाकर अच्छे से रगड़े ! फिर हल्का गुनगुना पानी से धो ले धीरे धीरे ब्लैक हेड्स व पिम्पल्स खत्म हो जाएगी ! सुबह एक गिलास पानी मे तीन तिनके डालकर रख दें ! फिर शाम को खाना खाने के बाद सोने के एक घण्टा पहले इस्तेमाल करें !

केसर खाँसी में फायदेमंद :–

खाँसी में सूखी या गीली खाँसी हो चाहे वह बलगम वाली खाँसी हो या गले मे खराश रहती हो ! या फेफड़े स्वास नली में इंफेक्शन दमा एलर्जी वाले के लिए केसर वाला काढ़ा बहुत ज्यादा लाभकारी है !
इसको लेने के आधे घंटे तक कुछ खाना पीना नही है !
यदि बहुत ज्यादा पुरानी बीमारी है तो 6 महीने तक इसका इस्तेमाल करें यदि दो हफ्ते से है तो एक हफ्ते इसका इस्तेमाल कर सकते हैं !

केसर के फायदे इन हिंदी

Leave a Comment

%d bloggers like this: