सफेद मूसली के फायदे, परहेज और खाने का सही तरीका

सफेद मूसली के फायदे, परहेज और खाने का सही तरीका

  1. यह जड़ी बूटी भारत के अंदर काफी मात्रा में पाया जाता है भारत के कोने कोने में देशी जड़ी बूटी की दुकानें होती है ! जिन्हें पंसारी बोली जाती है वहां पर सफेद मूसली आसानी से मिल जाएगी ! मूसली सब जगह मिलती है लेकिन नडियाल वाली मूसली सबसे अच्छी मानी जाती है ! मूसली एक पौधे की जड़ होती है जिसके ऊपर का छिलका हटा दिया जाता है ! उसके बाद इसको सूखा कर इसका प्रयोग किया जाता है !

सफेद मूसली के फायदे :–

जिन पुरुषों के वीर्य में शुक्राणु नही बनते उनके लिए सफेद मूसली बेहद फायदेमंद है ! कई लोगों के लिंग का ग्रोथ नही हो पाता उनके लिए भी सफेद मूसली फायदा करता है !

सफेद मूसली मांसपेशियों को करे विकसित : —

जिन बच्चों का शरीर नही बनता वह तरह तरह की एक्सरसाइज करते हैं जिम जाते है ! बाद में वह स्टेरॉयड लेने लगते है प्रोटीन,इंजेक्शन लगवाने लग जाते है जिससे थोड़ा मांसपेशियां तो बनती है ! लेकिन बाद में जब छोड़ते हैं तो फिर वही आ जाते है और इसका यह नुकसान होता है कि लिवर, गुर्दे खराब हो जाते है ! उनके लिए सफेद मूसली का पाउडर सुबह शाम एक चम्मच गर्म दूध के साथ लेने मांसपेशियां विकसित होती है !

सफेद मूसली महिलाओं के कमजोरी को दूर करे :–

जिन महिलाओं को सफेद,पीला या लाल पानी आता है और उसमें बहुत ज्यादा बदबू आती हो ! यह बच्चेदानी या यूरिन में इंफेक्शन के कारण होता है जिसकी वजह से हड्डियों व नसों में कमजोरी आ जाती है ! सिर व शरीर मे दर्द रहता है हमेशा बुखार से रहता है ,चिड़चिड़ापन गुस्सा रहता है ! वह गर्म दूध के साथ सफेद मूसली एक चम्मच सुबह शाम लेना चाहिए यह बहुत फायदेमंद है यह इस बीमारी को जड़ से खत्म कर देता है ! और शरीर के कमजोरियों को दूर कर देता है !

डायबिटीज में मूसली का प्रयोग :– सफेद मूसली के फायदे

जिन व्यक्तियों को शुगर की शिकायत रहती है जिसकी वजह से शरीर मे कमजोरी आ जाती है ! चाहे शुगर टाइप 2 की हो चाहे शुगर टाइप 1 की हो ! तो उनको सेक्सुली कमजोरी और बाहरी कमजोरी भी आ जाती है ! जिससे धीरे धीरे नवर्स सिस्टम व हड्डियां कमजोर होने लग जाती है ! उनके लिए मूसली का पाउडर सुबह शाम गर्म दूध के साथ खाना बहुत फायदेमंद है ! यह शुगर को मैंटेन भी करता है इसका कारण यह है कि अग्नाशय को ताकत देता है ! और उचित मात्रा में इंसुलिन को बनाता है और शरीर के अंदुरुनी और बाहरी कमजोरी को दूर करता है इसीलिए शुगर की दवाइयों के साथ इसका भी इस्तेमाल करें !

जोड़ो के दर्द के लिए :– सफेद मूसली के फायदे

जिनके जोड़ो में दर्द या कड़क कड़क की आवाज आती है तो वह लुब्रिकेंट कम होने के कारण होता है ! तो उनके लिए सफेद मूसली का पावडर खाना बेहद फायदेमंद होता है ! यह जोड़ो के दर्द को खत्म करता है और लुब्रिकेंट बनाता है और साथ मे कड़क कड़क की आवाज आना बंद हो जाती है !

बच्चेदानी की समस्या को दूर करे सफेद मूसली :–

जिन महिलाओं की बच्चेदानी कमजोर है या या बच्चेदानी में कोई समस्या है ! जिसकी वजह से वह गर्भधारण नही कर पाती है ! उनके लिए सफेद मूसली बेहद फायदेमंद है सुबह शाम गर्म दूध के साथ इसका इस्तेमाल करें ! इससे महिलाओं में जिनमे बच्चेदानी में ब्लॉकेज हो,बच्चेदानी में कमजोरी हो,बच्चेदानी का आकार बड़ा न हो तरह तरह की कमियां होती है ! वह कमियां धीरे धीरे दूर हो जाती है और जिन महिलाओं का गर्भ बार बार गिर जाता है सफेद मूसली का प्रयोग करने से दोबरा गर्भवती हो जाती है !

READ MORE –

  1. जैतून का तेल , ऑलिव ऑयल  , थायराइड का रामबाण इलाज  ,

       

    साइटिका बीमारी के लक्षण , साइकिल चलाने के फायदे और ध्यान रखने योग्य बात

    kapalbhati ke faydeपेट की चर्बी कैसे घटाएं  ,  कपालभाति

सफेद मूसली में प्रोटीन का सोर्स :–

जो लोग एसिड या प्रोटीन का इस्तेमाल कर रहे है उनके लिए सफेद मूसली बहुत फायदेमंद है ! गर्म दूध के साथ लेने से महिलाओं को और बच्चों को भी यह ताकतवर बनाती है ! और दोनों को स्वास्थ्य रखती है जिन महिलाओं को डिलिवरी के बाद दूध कम बनता हो ! उनके लिए सफेद मूसली का पाउडर खाना बहुत फायदेमंद है ! इससे दूध की वृद्धि होती है और बच्चे को भरपूर पोषण मिलता है !

सफेद मूसली शीत पित्त एलर्जी के लिए :–

जिनको शीत पित्त की एलर्जी हो तो इसे डाँड़फर या झापाकि बोला जाता है ! ज्यादा प्रोटीन वाली चीजें खाते हैं तो यह झापाकि हो जाती है ! उनके लिए सफेद मूसली का प्रयोग फायदेमंद होता है उनकी शीत पित्त एलर्जी जड़ से खत्म हो जाती है !

सफेद मूसली इम्युनिटी को बढ़ाये :–

जिनकी शरीर की रोग प्रतिरोधक प्रणाली हो जाती है जिसे इम्यून सिस्टम कहा जाता है ! बार बार बीमार पड़ जाते है खाँसी जुकाम परेशान करता है ! जिसे बदलते मौसम में एलर्जी बार बार परेशान करती है उनके लिये सफेद मूसली का पाउडर सुबह शाम गर्म दूध के साथ इस्तेमाल करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता पूरी तरह से बढ़ जाती है ! और यह बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है !

सफेद मूसली का प्रयोग नाक से खून आने पर :–

जिनको नाक से खून आते हैं या खून में ज्यादा गर्मी बढ़ जाने के कारण होता है ! नाक में ड्राइनेस बढ़ जाती है नाक की नस फट जाती है जिससे नाक से खून आने लग जाते है ! उनके लिए खासतौर पर सफेद मूसली का पावडर गर्म दूध के साथ या गर्म पानी के साथ इस्तेमाल करने से यह रक्त पित्त की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है !

जिन लोगो का मांसपेशियां कमजोर है चलने फिरने में असमर्थ हो जाते हैं ! उनके लिए सफेद मूसली और अश्वगंधा बराबर मात्रा में लेकर पीसकर एक जगह मिलाकर रख लें ! और इस मिश्रण पावडर गर्म दूध के साथ इस्तेमाल करने से लाभ मिलता है ! नसे और मांसपेशियों का दर्द जड़ से खत्म हो जाता है !

सफेद मूसली मासिकधर्म में फायदेमंद :–

जिन महिलाओं का मासिकधर्म खुलकर नही आता या ज्यादा मात्रा में आता है ! मासिकधर्म के समय पेड़ू में दर्द रहता है जिसको टिसूल बोला जाता है ! उनका हार्मोन्स कभी कम बनता है कभी ज्यादा बनता है ! किसी का असन्तुलन रहता है उनके लिये यह हार्मोन्स का संतुलन बनाकर रखता है ! जिसकी वजह से महावारी ठीक ढंग से आती है और सही आती है इसीलिए सफेद मूसली का प्रयोग बेहद फायदेमंद है !

सफेद मूसली हाइट को बढ़ाए :– सफेद मूसली के फायदे

जिन बच्चों का हाइट रुक जाता है हार्मोन्स कम बनता है जिसकी वजह से कद रुक जाता है ! उनको सफेद मूसली या अश्वगंधा बराबर मात्रा में मिलाकर इसका पावडर एक चम्मच सुबह एक चम्मच शाम को गर्म दूध के साथ लेने से रुकी हुई हाइट बढ़ने लग जाती है और बार बार बीमार नही पड़ते हैं !

सफेद मूसली के नुकसान :–

इसका बहुत ज्यादा नुकसान नही है यह शरीर के वात, कफ और पित्त को खत्म कर देता है ! लेकिन जो कफ प्रकृति के लोग हैं उनको थोड़ा सा नुकसान है जिनको वर्तमान में जुकाम,नजला हुआ है वह इसका इस्तेमाल न करे ! क्योंकि यह जुकाम नजले के समय इसका इस्तेमाल करते हैं तो जुकाम और नजला ओर बढ़ जाएगा ! जब जुकाम व नजला खत्म हो जाये तब इसका इस्तेमाल कर सकते हैं !

सफेद मूसली का तासीर :– इसकी तासीर न तो गर्म न तो ठंडी होती है जो कि हर किसी को पच जाती है ! इसकी मात्रा 3 से 6 ग्राम लिया जाता है जिसे एक चम्मच या दो चम्मच दूध के साथ ले सकते है ! सफेद मूसली के फायदे

READ ENGLISH

Leave a Comment

%d bloggers like this: